बुधवार, 29 सितंबर 2010

जय हिन्द........... :-देव

कुछ लिखने... या फिर कुछ कहना,
कभी कभी शब्द पर्याप्त नहीं होते....
सो संगीत का माध्यम लेना शायद अच्छा हो.........







जय हिन्द
-देव

11 टिप्‍पणियां:

शिवम् मिश्रा ने कहा…

गजब पोस्ट लगाई है देव बाबु ......!!!
जय हिंद !!

संजय भास्कर ने कहा…

गजब है

संजय भास्कर ने कहा…

..... बहुत ही बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

पहला गाना तो हर बार हृदय छू जाता है।

शिवम् मिश्रा ने कहा…


बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

दिगम्बर नासवा ने कहा…

भाई ... संगीत का लिख हमें नज़र ही नही आ रहा ... पर आपकी बात से इत्तेफ़ाक रखता हूँ ....

ZEAL ने कहा…

.

lovely songs made the post truly great ! Emotions of million people have been expressed beautifully through this post of yours.

Regards,

.

प्रतुल वशिष्ठ ने कहा…

मित्र देव
आपने इन गीतों को सुनवा कर कुछ बातों को सोचने के लिये विवश कर दिया. सच है, बिलकुल सच है:
— कुछ और ना आता हो हमको, हमें प्यार निभाना आता है.
— जीते हों किसी ने देश तो क्या, हमने तो दिलों को जीता है.
— इतनी ममता नदियों को भी जहाँ माता कहकर बुलाते हैं. इतना आदर इंसान तो क्या, पत्थर भी पूजे जाते हैं.
लाजवाब ............. सुनकर मन प्रसन्न हो गया. अपने भारत के गौरव गान को सुनकर गर्व से छाती फूल गयी.

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

श्रीमान भारत के फिल्मों के गीत सुना कर भाव विभोर कर दिया ।

Shekhar Suman ने कहा…

bahut hi sundar post...
gaane bahut pasand aaye.....
aabhar...
माँ के चरणों में अपनी एक पुरानी कविता समर्पित कर रहा हूँ.....
http://i555.blogspot.com/

Shekhar Suman ने कहा…

मेरे ब्लॉग पर इस बार ....
क्या बांटना चाहेंगे हमसे आपकी रचनायें...
अपनी टिप्पणी ज़रूर दें...
http://i555.blogspot.com/2010/10/blog-post_04.html